Thursday, June 27, 2013

जॉर्ज कार्लिन : उसने कहा था

जार्ज कार्लिन (12 मई, 1937 -- 22 जून 2008) अमेरिकी हास्य अभिनेता और व्यंग्यकार थे. अपने कामेडी एल्बमों के लिए उन्होंने पांच ग्रैमी अवार्ड जीते थे. 2008 में उन्हें मार्क ट्वेन पुरस्कार से नवाजा गया. 

उसने कहा था : जार्ज कार्लिन 
(प्रस्तुति/अनुवाद : मनोज पटेल) 
 
कुल मिलाकर साहित्य सच को छुपाने का एक औजार है. 
:: :: :: 

कामिक्सों में बाईं तरफ वाला इंसान हमेशा पहले बोलता है. 
:: :: :: 

जिस समय आप जोर से ब्रेक लगाते हैं, उस समय आपकी जिंदगी आपके पैर के हाथ में होती है 
:: :: :: 

क्या आपने कभी गौर किया है कि आपसे धीमे गाड़ी चला रहा शख्स बेवकूफ होता है और आपसे तेज चला रहा शख्स पागल? 
:: :: :: 

तुम बंदर को अपनी पीठ से उतार ले गए हो तो इसका यह मतलब नहीं कि सर्कस शहर से जा चुका है. 
:: :: :: 

बीती रात मैंने एक अच्छे फेमिली रेस्टोरेंट में खाना खाया. हर मेज पर कोई न कोई बहस छिड़ी थी. 
:: :: :: 

वह परिपूर्ण कैसे हो सकता है? उसकी बनाई हर चीज तो मर जाती है. 
:: :: :: 

हवाई जहाज के दुर्घटनाग्रस्त होने पर जब ब्लैक बाक्स को कभी कोई नुकसान नहीं पहुँचता तो पूरा हवाई जहाज उसी चीज से क्यों नहीं बनाया जाता? 
:: :: :: 

हर कोई एक ही भाषा में मुस्कराता है. 
:: :: :: 

घर आपका सामान रखने की एक जगह भर होता है जबकि आप और सामान लाने के लिए बाहर गए रहते हैं. 
:: :: :: 

बुढ़ापे की एक सबसे अच्छी बात यह है कि आप हर तरह के सामाजिक दायित्वों से सिर्फ यह कहकर छुट्टी पा सकते हैं कि मैं बहुत थक गया हूँ. 
:: :: :: 

नास्तिकता एक नान-'प्राफेट' आर्गनाइजेशन है. 
:: :: :: 

सातवें आसमान की चर्चा ज्यादा होती है, मगर असल में छठवाँ आसमान सस्ता, कम भीड़-भाड़ और मनमोहक नज़ारे वाला है. 
:: :: :: 

लोग इसे अमेरिकन ड्रीम इसलिए कहते हैं क्योंकि इस पर विश्वास करने के लिए नींद में होना जरूरी है. 
:: :: :: 

"नो कमेन्ट" एक कमेन्ट है. 
:: :: :: 

यदि कोई व्यक्ति हमेशा मुस्कराता रहता है तो शायद वह कोई ऐसी चीज बेच रहा है जो काम नहीं करती. 
:: :: :: 

धर्म जूते की एक जोड़ी की तरह होता है... आप अपने नाप का ले लीजिए मगर मुझे अपना जूता पहनाने की कोशिश मत करिए. 
:: :: :: 

कुछ लोग गिलास को आधा भरा देखते हैं और कुछ लोग आधा खाली. मैं उसे एक ऐसे गिलास के रूप में देखता हूँ जो अपनी जरूरत से दुगने आकार का है. 
:: :: :: 

किसी को एक मछली दे दीजिए तो वह उसे एक दिन खाएगा. उसे मछली पकड़ना सिखा दीजिए तो वह एक नाव में बैठकर सारा दिन बीयर पीता रहेगा. 
:: :: :: 

क्या किसी रेस्टोरेंट में स्मोकिंग सेक्शन बनाना उसी तरह नहीं है जैसे किसी स्विमिंग पूल में मूतने का सेक्शन बनाना? 
:: :: :: 

20 comments:

  1. जबरदस्त ...नायाब

    ReplyDelete
  2. तुम बंदर को अपनी पीठ से उतार ले गए हो तो इसका मतलब यह नहीं कि सर्कस शहर से जा चुका है.

    ReplyDelete
  3. हवाई जहाज के दुर्घटनाग्रस्त होने पर जब उसके ब्लैक बॉक्स को कभी कोई नुकसान नहीं पहुँचता तो पूरा हवाई जहाज को उसी चीज से क्यों नहीं बनाया जाता ?

    ReplyDelete
  4. इनमें से कई सवाल अक्सर मैं भी अपने दोस्तों से पूछ चुका हूँ.. :-)

    ReplyDelete
  5. गाड़ी वाला मुझ पर बिल्कुल सही बैठता है .

    ReplyDelete
  6. interesting and insightful...witty..intelligent...

    ReplyDelete
  7. गाड़ी वाला मुझ पर बिल्कुल सही बैठता है .

    ReplyDelete
  8. बहुत रोचक और अर्थपूर्ण …. शानदार प्रस्तुति !

    ReplyDelete
  9. यह वर्णमाला इस क्रम में क्यों है? कहीं उस ए बी सी डी वाले गाने की वजह से तो नहीं? - जॉर्ज कार्लिन

    ReplyDelete
  10. क्या आपको यह जानकर डर नहीं लगता कि डॉक्टर अपने काम को "प्रैक्टिस" कहते हैं ?
    जॉर्ज कार्लिन

    ReplyDelete

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...